देश-दुनिया

पढ़ाई-लिखाई

  • आफ़त में घिरे बच्चों ने इस तरह की आपदा की चित्रकारी

    आफ़त में घिरे बच्चों ने इस तरह की आपदा की चित्रकारी0

    वी. शशि कुमार : यह दास्तान उन दिनो की है, जब बीते महीनों में केरल में भयानक बाढ़ के बाद, अलप्पुझा जिले के एक राहत शिविर में बच्चों को चित्र बनाने और लिखने के लिए कलम, पेंसिल और डायरी दी गई। उन बच्चों ने चित्रों और शब्दों के जरिये अपने डर और प्रार्थनाओं, हानि और

    READ MORE
  • देश में 15 करोड़ बच्चे, युवा औपचारिक शिक्षा से वंचित

    देश में 15 करोड़ बच्चे, युवा औपचारिक शिक्षा से वंचित0

    पुरुषोत्तम ठाकुर : सात वर्षीय बसवराजू, तेलंगाना के सेरिलिंगमपल्ली मंडल में स्थित मंडल परिषद प्राथमिक विद्यालय में पढ़ते हैं. रंगा रेड्डी ज़िले का यह स्कूल देश भर के उन 11.2 लाख स्कूलों में से एक है, जहां बच्चों को दोपहर में गरमा-गरम भोजन मिलता है. बसवराजू के साथ पढ़ने वाली 10 वर्षीय अंबिका, स्कूल जाने

    READ MORE

खेती-बाड़ी

  • मगही पान की खेती से देश-विदेश में मिसाल बने सुधांशु कुमार

    मगही पान की खेती से देश-विदेश में मिसाल बने सुधांशु कुमार0

    देश-विदेश में बिहार के मगही पान की क्रेज है. अपनी खास पहचान के कारण मगही पान जबरदस्त मांग है, क्योंकि आयुर्वेदिक औषधि और माउथ फ्रेशनर के रूप में इसका इस्तेमाल किया जाता है. इस पान की खेती बिहार के मगध क्षेत्र में होती है. मगही पान की खेती को बढ़ावा देने के लिए बिहार सरकार

    READ MORE

दवा-इलाज

  • देश में चौबीस लाख से अधिक मवेशियों पर लंपी की मार

    देश में चौबीस लाख से अधिक मवेशियों पर लंपी की मार0

    मेधावी अरोड़ा : हमारे देश में इन दिनों मवेशियों, ख़ासकर गायों में लंपी वायरस का संक्रमण फैला हुआ है और इस संक्रामक बीमारी को लेकर भारतीय सोशल मीडिया पर कई अफ़वाहें भी तैर रही हैं. सरकार के जारी किए ताजा आंकड़ों के मुताबिक़ देशभर में क़रीब 24 लाख मवेशी इसकी चपेट में आ चुके हैं

    READ MORE
  • ना भाई ना ! कभी भी अपनी नाक में उंगली मत करना वरना….!!

    ना भाई ना ! कभी भी अपनी नाक में उंगली मत करना वरना….!!0

    विवेक कुमार : वैज्ञानिकों का कहना है नाक में उंगली डालना अच्छी बात नहीं है. सिर्फ इसलिए नहीं कि अन्य लोगों को यह अच्छा नहीं लगता, बल्कि इसलिए भी कि इससे डिमेंशिया या अल्जाइमर्स हो सकता है. नाक में उंगली डालना एक ऐसी क्रिया है, जो करने वाले अनायास ही कर बैठते हैं और देखने

    READ MORE

बच्चा पार्टी

  • अच्छी किताबों से होकर जाए बच्चों की बेहतर जिंदगी का रास्ता

    अच्छी किताबों से होकर जाए बच्चों की बेहतर जिंदगी का रास्ता0

    पवन चौहान : बचपन की यादों में बाल साहित्य का अपना एक निश्चित स्थान है। मोबाइल की दुनिया से पूर्व तो यही बच्चों के मनोरंजन के साथ ज्ञानार्जन का अवलम्ब था। किताबें, बाल पत्रिकाएं और दादा-दादी, नाना नानी के क़िस्से बालमन गढ़ने में महती भूमिका निभाते हैं। अब पुस्तकों की वो सुगंध, कल्पना की आज़ादी

    READ MORE

वीडियो गैलरी

ताक-झांक

वीडियो गैलरी

मौज-मस्ती

काम-धंधा

  • अमेरिकी टेक कंपनियों ने छीन लीं 1,20,000 लोगों की नौकरियां

    अमेरिकी टेक कंपनियों ने छीन लीं 1,20,000 लोगों की नौकरियां0

    ट्विटर, मेटा और अमेज़न जैसी बड़ी टेक कंपनियों में काम करने वाले हज़ारों लोग ‘नई नौकरियों की तलाश’ में हैं. नौकरियों पर नज़र रखने वाली Layoffs.fyi के मुताबिक, दुनियाभर के 120,000 लोगों की नौकरियां जा चुकी हैं. अमेरिका में एच1बी और दूसरे वीज़ा पर काम करने वाले बड़ी संख्या में भारतीयों की नौकरियां गई हैं.

    READ MORE

वुमनिया

कला-कलम

मीडिया मंच

  • पारी : पीपल्स आर्काइव ऑफ़ रूरल इंडिया का ज़रूरी आह्वान

    पारी : पीपल्स आर्काइव ऑफ़ रूरल इंडिया का ज़रूरी आह्वान0

    पी. साईंनाथ : हम सरकारों की मदद के बिना भी पत्रकारिता कर सकते हैं – और करेंगे. हम आपके बिना यह नहीं कर सकते. अपने देश को कवर करें, जानें कि कैसे. ग्रामीण भारत पर आधारित जानकारी का अनोखा भंडार तैयार करने में मदद के लिए हमसे जुड़ें. आप हमें अपने बारे में कुछ बताकर

    READ MORE

प्रादेशिक न्यूज़

  • मसूरी में ही रहकर दलाई लामा ने पहली बार तिब्बत सरकार बनाई

    मसूरी में ही रहकर दलाई लामा ने पहली बार तिब्बत सरकार बनाई0

    विनीता यशस्वी : मसूरी पहला हिल स्टेशन था, जहां स्थानीय स्वशासन की व्यवस्था की गई. वेल्स बंदोबस्त के बाद सन् 1842 के नियम 10 के तहत इस क्षेत्र के नियमन के लिए एक स्थानीय समिति का गठन किया गया. अंग्रेजों के आने से पहले मसूरी मुख्यतः चरवाहों का अड्डा था. यहाँ बहुतायत में उगने वाली

    READ MORE
  • वृद्ध सेनापति जैसा उपेक्षित गढ़‌वाल का ऐतिहासिक कस्बा दुगड्डा

    वृद्ध सेनापति जैसा उपेक्षित गढ़‌वाल का ऐतिहासिक कस्बा दुगड्डा0

    भगवतीप्रसाद जोशी ‘हिमवन्तवासी’ : यूपी में पुख्ता बुनियाद वाले जिला बिजनौर में नवाब नजीबुद्दौला द्वारा बसाए गए और दिल दिलेर मानिन्द शेर डाकू सुलताना के जन्म स्थान के रूप में मशहूर शहर नजीबाबाद के उत्तर में 40 कि.मी. दूर, सघन बन-प्रान्तर में बसा है गढ़‌वाल का छोटा सा किन्तु ऐतिहासिक कस्बा दुगड्डा. ‘गड’ या ‘गाड़’

    READ MORE